Sunday, January 26, 2020
Breaking News
Home / National / अमेरिका में भारतीय छात्रों की संख्या पहली बार दो लाख के पार

अमेरिका में भारतीय छात्रों की संख्या पहली बार दो लाख के पार

अमेरिका में अध्ययन करने वाले भारतीय छात्रों की संख्या पहली बार दो लाख से ऊपर पहुंच गयी है। अमेरिकी दूतावास के सूत्रों ने यहां बताया कि अमेरिका में अध्ययन करने वाले भारतीय छात्रों की संख्या पिछले वर्ष की तुलना में लगभग तीन प्रतिशत बढ़कर 202014 पर पहुंच गयी है। यह लगातार छठा वर्ष है जब उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए अमेरिका जाने वाले भारतीयों की कुल संख्या में वृद्धि हुई है।

अमेरिकी दूतावास के दूतावास संबंधी मामलों के सलाहकार मंत्री चेरिस फिलिप्स ने यूनाइटेड स्टेट्स इंडिया एजूकेशनल फाउंडेशन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ दोनों देशों के बीच छात्रों के शिक्षा के संबंध में आना-जाना उस आधार को मजबूत करने में मदद करता है जिस पर हमारी रणनीतिक साझेदारी बनी है। भारतीय छात्रों को बेहतरीन शिक्षा की तलाश है और अमेरिका इस निवेश पर सबसे अच्छा रिटर्न प्रदान करता है।’’ रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में कुल विदेशी छात्रों का 18 प्रतिशत से अधिक भारतीय छात्र हैं। स्रातक तक की पढ़ाई करके आने वाले दूसरे सबसे अधिक छात्र भारत से आते हैं और अवर स्रातक तक के छात्रों के मामले में वह तीसरे स्थान पर है।

सांस्कृतिक मामलों के फर्स्ट सेक्रेटरी कार्ल एडम ने कहा, ‘‘ हमारी शिक्षा प्रणाली व्यावहारिक अनुप्रयोग और अनुभव प्रदान करती है जो किसी भी स्रातक को नौकरी हासिल करने में मदद करती है। हम अमेरिका में अध्ययन करने पर विश्वसनीय और आधिकारिक जानकारी के साथ भारतीय छात्रों की मदद करना चाहते हैं और यही कारण है कि हमारे पास पूरे भारत में सात एजुकेशनयूएसए सलाह केंद्र और एजुकेशनयूएसए इंडिया नामक एक मुफ्त मोबाइल ऐप है जो अब आईओएस और एंड्रॉयड पर उपलब्ध है।’’ गौरतलब है कि अमेरिकी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों ने 2018-19 में लगातार चौथे वर्ष 10 लाख से अधिक अंतरराष्ट्रीय छात्रों की मेजबानी की। देश में लगातार 13वें वर्ष अंतरराष्ट्रीय छात्रों की कुल संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

अमेरिका में ज्यादातर छात्र चीन, भारत, दक्षिण कोरिया, सऊदी अरब, कनाडा, वियतनाम, ताइवान, जापान, ब्राजील और मैक्सिको के हैं जो कैलिफोर्निया, न्यूयॉर्क, टेक्सास, मैसाचुसेट्स, इलिनोइस, पेंसिल्वेनिया, फ्लोरिडा, ओहियो, मिशिगन और इंडियाना जैसे प्रांतों में अध्ययन करते हैं।