Sunday, December 15, 2019
Breaking News
Home / STATE NEWS / Uttar Pradesh / Agra / अल्लाह को खुश करने के लिए हैवान पिता ने दी बेटे की कुर्बानी, मौलवी ने दी थी सलाह

अल्लाह को खुश करने के लिए हैवान पिता ने दी बेटे की कुर्बानी, मौलवी ने दी थी सलाह

आगरा में एक सिरफिरे बाप ने अपने 4 साल के मासूम बेटे की जान ले ली। आरोपी के मुताबिक, उसने अल्लाह की रहमत के लिए अपने बेटे की कुर्बानी दी है। आरोपी ने बड़ी बेरहमी से कैंची से कई प्रहार कर बच्चे को मौत के घाट उतार दिया और घर चला आया। पिता स्कूल छोड़ने के बहाने बच्चे को एक निर्माणाधीन बिल्डिंग के बेसमेंट में ले गया और वहीं उसकी हत्या कर दी। बच्चे के स्कूल ना पहुंचने पर जब परिजन ने आरोपी से पूछताछ की, तो उसने मौलवी के कहने पर बच्चे की बलि दिए जाने की जानकारी दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर बच्चे के शव को बरामद किया और हत्यारे के कब्जे से हत्या में इस्तेमाल कैंची भी बरामद कर ली।

शनिवार सुबह थाना सदर के महादेव नगर निवासी चार वर्षीय ऋषि का शव कहरई मोड़ के पास एक बिल्डिंग से मिला। ऋषि को उसका पिता अमित विश्वकर्मा स्कूल छोड़ने गया था। अमित बच्चे को सुबह स्कूल छोड़कर घर लौट आया। जब 9 बजे के करीब स्कूल से घर पर सूचना पहुंची ऋषि नहीं आया है तो परिवार के अन्य सदस्यों ने पुलिस को 100 नंबर पर सूचना दी। सीओ सदर विकास जायसवाल बच्चे की तलाश में निकल पड़े। कहरई मोड़ पर बच्चे का शव मिल गया। बच्चे की हत्या धारदार हथियार से बेरहमी से की गई थी। उसके गले, सीने और हाथ पर प्रहार किए गए थे। बच्चे की पीठ पर बैग टंगा हुआ था।

रोज दादी छोड़ने जाती थीं, घटना के दिन जिद करके बच्चे को ले गया
बताया जाता है कि 4 साल का ऋषि घर से मात्र 100 मीटर की दूरी पर स्थित पुष्प अनुज पब्लिक स्कूल में एलकेजी का छात्र था। अकसर उसकी दादी सुमन उसे स्कूल छोड़ने जाती थीं। शनिवार सुबह ऋषि को लेकर वह स्कूल जाने के लिए जैसे ही घर से बाहर निकलीं तभी अमित आ गया और जबरन बच्चे को स्कूल ले जाने की जिद करने लगा। थोड़ी देर बाद स्कूल से फोन आने पर सुमन वहां पहुंचीं तो गेटकीपर ने बताया ऋषि आज स्कूल नहीं आया है, जबकि सुमन का कहना था कि उसका पिता अमित उसे स्कूल लेकर गया था।

पूछताछ में बताया, बच्चे को अल्लाह के पास पहुंचा दिया

सुमन अमित को तलाशते हुए वापस घर पहुंची तो देखा अमित अपने चेन कारखाने में काम कर रहा है और ऋषि के बारे में पूछने पर उसने बताया कि वह उसे स्कूल छोड़ आया है। सख्ती से पूछने पर उसने बताया ऋषि को उसने अल्लाह के पास पहुंचा दिया है वजह पूछने पर उसने कहा कि इससे उसे अल्लाह से रहमत मिलेगी। उसने एक मौलवी के कहने पर अपने बेटे की बलि दी है। बाद में पुलिस को सूचना दी गई तो पुलिस अमित को लेकर घर से 500 मीटर की दूरी पर मित्रपुरम स्थित एक निर्माणाधीन बिल्डिंग पर पहुंची जहां अमित की निशानदेही पर बिल्डिंग के बेसमेंट में बच्चे का शव बरामद हुआ। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त की गई कैंची भी बरामद कर ली। बच्चे का शव लहूलुहान हालत में पड़ा था। उसके सिर, सीने और शरीर के अन्य अंगों पर गहरे जख्म थे।

परिवार ने बताया, मौलवी के चक्कर में पड़ा था आरोपी

बच्चे की हत्या की जानकारी होने पर मोहल्ले में हड़कंप मच गया। सूचना पर एसपी सिटी भी मौके पर पहुंच गए और हत्यारोपी पिता को हिरासत में ले लिया गया। परिजन के मुताबिक, अमित पिछले काफी समय से ताजगंज क्षेत्र के ही एक मौलवी के चक्कर में पड़ा हुआ था इसी मौलवी ने उसे बलि देने की सलाह दी थी। इसके बाद उसने परिवार के लोगों से भी बच्चे की बलि के संबंध में बात की थी। तब परिजन ने उसकी बातों को नजरअंदाज कर दिया था। बताया जाता है एक-दो महीने पहले अमित ने अपने छोटे भाई अजय की गर्दन पर चाकू प्रहार कर जान लेने की भी कोशिश की थी। तब परिजन ने अमित को मारा-पीटा भी था।