Sunday, December 15, 2019
Breaking News
Home / Prime News / व्यर्थ होती है बिना संस्कार वाली शिक्षा : सीएम

व्यर्थ होती है बिना संस्कार वाली शिक्षा : सीएम

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को भानियावाला, देहरादून में दून पब्लिक स्कूल की 25वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित समारोह का दीप प्रज्वलित कर शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री ने समस्त विद्यालय परिवार को विद्यालय की 25 वीं वर्षगांठ के अवसर पर बधाई व शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि कोई भी विद्यालय तब तक एक अच्छा विद्यालय नहीं होता जब तक उसमें अच्छे शिक्षक ना हो। क्योंकि सभी अच्छे संसाधनों के होते हुए भी बिना शिक्षक के वह विद्यालय पूर्ण नहीं होता। और एक अच्छा शिक्षक सभी संसाधनों की कमी को पूर्ण कर सकता है। उन्होंने कहा कि यदि शिक्षा संस्कारपूर्ण नहीं है, तो व्यर्थ है। बिना संस्कार के शिक्षा अधूरी है और जो व्यक्ति अपने समाज, राज्य व देश के विषय में नहीं सोचता वह शिक्षित नहीं है।
मुख्यमंत्री ने सभी विद्यार्थियों एवं विद्यालय परिवार को विद्यालय के 25 सफलतम वर्ष पूर्ण करने के लिये बधाई व शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने विद्यालय के टाॅपर बच्चों को सम्मानित भी किया।
इस अवसर पर दून पब्लिक स्कूल, भानियावाला की निदेशक श्रीमती सरोज रतूड़ी एवं प्रधानाचार्य श्री एस.पी. भट्ट सहित छात्र-छात्राएं एवं उनके परिजन भी उपस्थित थे।