Monday, November 18, 2019
Breaking News
Home / Prime News / सीएम हेल्पलाइन के बेहतर संचालन के लिए अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने अधिकारीयों को दिए आदेश

सीएम हेल्पलाइन के बेहतर संचालन के लिए अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने अधिकारीयों को दिए आदेश

मुख्यमंत्री उत्तराखंड श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के द्वारा  Good Governance के तहत जनता के साथ सीधा संवाद एवं जन समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए  CM HELPLINE 1905 का 23 फरवरी 2019 को उद्घाटन किया गया था जिसका टोलफ्री फ़ोन नंबर 1905 है और वेबसाइट    cmhelpline-uk-gov-in है। उद्घाटन के कुछ समय बाद ही सीएम हेल्पलाइन 1905 जनता के बीच काफी लोकप्रिय हो गयी है और सीएम हेल्पलाइन में हजारों नागरिकों की जन समस्याओं का संतुष्टि के साथ समाधान हुआ है।
सीएम हेल्पलाइन के बेहतर संचालन के लिए अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने आयुक्त कुमायूं एवं गढ़वाल मंडल , समस्त निदेशक / विभागाध्यक्ष / आयुक्त , उत्तराखंड , समस्त जिला अधिकारियों को शासनादेश  संख्या 133/ XXX    (6)/2019/01(08)/18 में महत्वपूर्ण आदेश दिए हैं।  आयुक्त कुमाऊं मंडल एवं  आयुक्त गढ़वाल मंडल को अपने मंडल में और सभी जिला अधिकारियों को अपने जिले में  CM HELPLINE का Administrator बना दिया गया है। उक्त के क्रम में आयुक्त कुमाऊं मंडल एवं आयुक्त गढ़वाल मंडल को अपने मंडलों के सभी जिलों में  CM HELPLINE  के अंतर्गत सभी विभागों की  Monitoring    और  Administration के आदेश दिए हैं। प्रदेश के सभी जिला अधिकारियों को भी अपने जिलों में  CM HELPLINE  के अंतर्गत सभी विभागों की   Monitoring  और Administration  के आदेश दिए हैं।
सभी मंडल आयुक्त और जिला अधिकारियों से अपेक्षा है की गई है कि उपरोक्त शासनादेश के अनुपालन में प्रतिदिन अपने कार्यालय से दी गई यूजर आईडी से  CM HELPLINE को सुचारू रूप से चलाने के लिए प्रत्येक कार्य दिवस पर Monitoring अवश्य करना सुनिश्चित करें। समस्त निदेशक / विभागाध्यक्ष / आयुक्त से भी अपेक्षा की गई है उपरोक्त शासनादेश के अनुपालन में प्रतिदिन अपने कार्यालय से दी गई यूजर आईडी से CM HELPLINE को सुचारू रूप से चलाने के लिए प्रत्येक कार्य दिवस पर अपने विभाग की Monitoring अवश्य करना सुनिश्चित करें।

सीएम हेल्पलाइन के सम्बन्ध में जारी शासनादेश के महत्वपूर्ण बिंदु :

1 – जिन अधिकारियों ने शिकायत प्राप्त होने के 7 दिन के भीतर कोई भी कार्यवाही नही की और इस कारण बिना समाधान के अगर यह शिकायत अगले स्तर पर चली गयी तो ऐसे लापरवाही के लिए अधिकारी के विरुद्ध शासकीय कार्यवाही की जा सकती है

2 – ऐसे अधिकारी जो सिर्फ खानापूर्ति के लिए शिकायत का निस्तारण कर रहे हैं या गलत तरीके से शिकायत का निस्तारण कर रहे हैं ऐसी शिकायतों की जांच में सत्यता पाए जाने पर ऐसी लापरवाही के लिए उक्त अधिकारी के विरुद्ध शासकीय कार्यवाही की जा सकती है।

3 – अधिकारियों की सुगमता के लिए कंप्यूटर में लॉग इन के अलावा CM HELPLINE एप भी उपलब्ध है जिसे स्मार्ट फ़ोन में गूगल प्ले स्टोर में जाकर  Uttarakhand CM Helpline टाइप करके डाउनलोड किया जा सकता है। इस एप से अधिकारी प्रतिदिन किसी भी समय अपने स्मार्ट फोन पर भी प्राप्त शिकायतों को देख सकते हैं।

4- सभी अधिकारी प्रतिदिन कंप्यूटर पे  cmhelpline-uk-gov-in वेबसाइट पर या CM HELPLINE एप पर पर लॉग इन अवश्य करें।

5 – प्रत्येक माह प्रदेश के सभी L1] L2]L3] L4  स्तर के अधिकारियों का  Þ  शिकायतों के निस्तारण के आधार पर  ß  मूल्याकंन किया जाएगा।

6  – प्रत्येक माह मा० मुख्यमंत्री / मुख्य सचिव /अपर मुख्य सचिव द्वारा प्रदेश स्तर पर और मंडल आयुक्त द्वारा मंडल स्तर पर एवं जिला अधिकारी द्वारा जिला स्तर पर CM HELPLINE की समीक्षा बैठक की जायेगी।

सभी अधिकारीयों को निर्देश दिए गए हैं कि उपरोक्त शासनादेश का कड़ाई से अनुपालन एवं  CM HELPLINE  पर प्राप्त जन शिकायतों / जन समस्याओं पर त्वरित एवं समयबद्ध रूप से गुणवत्ता पूर्वक कार्यवाही करवायें और आख्या  CM HELPLINE  पर ऑनलाइन अपलोड करवायें।