Saturday, June 23, 2018
Breaking News
Home / STATE NEWS / Uttarakhand / Dehradun / उत्तराखंड के खाते में एक और उपलब्धि, सर्व शिक्षा अभियान रैंकिंग में दूसरे स्‍थान पर

उत्तराखंड के खाते में एक और उपलब्धि, सर्व शिक्षा अभियान रैंकिंग में दूसरे स्‍थान पर

उत्तराखंड के खाते में और एक उपलब्धि जुड़ गई। नौनिहालों की शिक्षा के लिए केंद्र की फ्लैगशिप योजना सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) में राज्य ने देशभर में दूसरी रैंकिंग हासिल की है।

उत्तराखंड से आगे सिर्फ केरल राज्य है। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय (एमएचआरडी) ने राज्य के सभी विद्यालयों में एनसीइआरटी की किताबें लागू करने और बुक बैंक की स्थापना को उठाए गए कदमों को बेस्ट प्रेक्टिसेज में शुमार करते हुए जमकर सराहा। बुक बैंक शुरू होने के बाद राज्य में किताबों पर हर साल होने वाले खर्च में बचत होगी और इस बचत राशि को प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में बुनियादी सुविधाएं जुटाने पर खर्च किया जा सकेगा।

जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में मंगलवार को सर्व शिक्षा अभियान की दो दिनी समीक्षा बैठक शुरू हुई। बैठक में आज उत्तराखंड के अलावा हरियाणा, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पंजाब और दिल्ली राज्यों में सर्व शिक्षा अभियान की रैंकिंग पर चर्चा हुई। बैठक में बताया गया कि एमएचआरडी की ओर से की गई रैंकिंग में उत्तराखंड दूसरे स्थान पर है। राज्य को कुल 100 प्राप्तांकों में 95 अंक प्राप्त हुए हैं।

राज्य का प्रदर्शन 91 से लेकर 100 फीसद के बीच में आंका गया। उत्तराखंड ने राज्य और केंद्रशासित प्रदेश समेत कुल 34 राज्यों को पछाड़कर यह स्थान हासिल किया है।

पहले स्थान पर केरल राज्य के कुल प्राप्तांक 99 हैं। तीसरे स्थान पर महाराष्ट्र को भी 95 अंक मिले हैं। पड़ोसी राज्यों में हिमाचल प्रदेश इस रैंकिंग में 18वें स्थान और उत्तरप्रदेश 25वें स्थान पर है।

सर्व शिक्षा अभियान राज्य परियोजना के अपर निदेशक डॉ मुकुल कुमार सती ने बताया कि बैठक में एमएचआरडी सचिव अनिल स्वरूप व अन्य आला अधिकारियों ने उत्तराखंड में शिक्षा के क्षेत्र में शुरू की गईं बेस्ट प्रेक्टिसेज की प्रशंसा की। बुक बैंक स्थापना के साथ ही राज्य में प्रारंभिक शिक्षा की गुणवत्ता के लिए रूम टू रीड, संपर्क फाउंडेशन, अजीम प्रेमजी फाउंडेशन, अरविंदो सोसायटी समेत 25 स्वैच्छिक संस्थाओं के साथ किए जा रहे साझा प्रयासों को बेस्ट प्रेक्टिस माना है।

लर्निंग आउटकम्स, आधार सीडिंग, पाठ्यपुस्तकें मुहैया कराने और शिक्षकों के प्रशिक्षण में उत्तराखंड ने बेहतर प्रदर्शन किया है। उक्त के अलावा शिक्षकों के फोटो, ट्विनिंग और अनुसूचित जाति के छात्रों और स्कूल ग्रांट के इस्तेमाल में भी उत्तराखंड ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए दस में से दस अंक प्राप्त किए। बैठक में सर्व शिक्षा अभियान राज्य परियोजना निदेशक एवं शिक्षा महानिदेशक कैप्टन आलोक शेखर तिवारी, अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण निदेशक सीमा जौनसारी, एसएसए राज्य परियोजना अपर निदेशक डॉ मुकुल सती, एससीइआरटी के संयुक्त निदेशक कुलदीप गैरोला, सहायक निदेशक संजीव जोशी व राज्य समन्वयक बीपी मैंदोली मौजूद रहे।