Sunday, July 22, 2018
Breaking News
Home / STATE NEWS / Uttarakhand / Dehradun / मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरिद्वार जनपद के विधानसभा क्षेत्रों में विकास कार्यों की समीक्षा

मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरिद्वार जनपद के विधानसभा क्षेत्रों में विकास कार्यों की समीक्षा

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरिद्वार जनपद के विधानसभा क्षेत्रों में विकास कार्यों की समीक्षा की। इसमें मुख्यतः मुख्यमंत्री घोषणाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की गई। बैठक में हरिद्वार जनपद के प्रभारी मंत्री  सतपाल महाराज, केबिनेट मंत्री मदन कौशिक, विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैम्पियन, देशराज कर्णवाल,  ममता राकेश,  प्रदीप बत्रा, संजय गुप्ता,  सुरेश राठौर, फुरकान अहमद, आदेश चौहान, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश सहित शासन के वरिष्ठ अधिकारी व जिला मुख्यालय पर जिलाधिकारी सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक के बाद मीडिया को जानकारी देते हुए केबिनेट मंत्री ने कहा कि आज की समीक्षा बैठक में विपक्षी दल के विधायक भी सम्मिलित हुए। प्रदेश का विकास सर्वोपरि है। हम सभी को मिलकर प्रदेश को आगे ले जाना है। उन्होंने बताया कि हरिद्वार ग्रामीण क्षेत्र की 25 घोषणाओं में 17 पूर्ण हैं जबकि 8 पर कार्य गतिमान है। रानीपुर की कुल 17 में 07 पूर्ण 05 गतिमान हैं। हरिद्वार क्षेत्र की 28 घोषणाओं में 11 पूर्ण 10 गतिमान हैं। भगवानपुर में 10 में से 10 पर कार्य गतिमान है। ज्वालापुर की 16 में 8 पूर्ण हैं जबकि 8 पर कार्य गतिमान है। झबरेड़ा की 5 में से 5 पूर्ण हैं। पिरान कलियर की 12 में से 02 पूर्ण व 10 गतिमान हैं। रूड़की की 20 में से 12 पूर्ण व 8 पर कार्य गतिमान है। खानपुर की 57 में से 42 पूर्ण हैं जबकि 13 पर कार्य गतिमान है। लक्सर की 29 में से 23 पूर्ण व 6 पर कार्य गतिमान है। मंगलौर की 9 में से 1 पर पूर्ण व 7 पर कार्य गतिमान है।
इससे पूर्व बैठक में मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने अधिकारियों को विभिन्न विकास योनाओं को पूरा करने के लिए आवश्यक औपचारिकताएं जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री घोषणाओं की क्रियान्विति तय समय के अंदर धरातल पर दिखनी चाहिए।  उन्होंने कहा कि इस तरह की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए कि चिकित्सालयों में चिकित्सक राजकीय अवकाश व रात्रि के समय भी उपलब्ध हों।
हरिद्वार विधानसभा क्षेत्र की समीक्षा के दौरान बताया गया कि आश्रमों में जहां व्यावसायिक गतिविधियां नहीं होती हैं वहां गृह कर मुक्त कर दिया गया है। धर्मशालाओं पर भी 3 गुना से कम करके 1 गुना कर दिया गया है। आदर्श नगर, विवेक विहार, में सीसी निर्माण के लिए 1 करोड़ 57 लाख रूपए स्वीकृत। काम प्रारम्भ हो चुका है। कुल 35 हैंडपम्प निर्माण के लिए टैंडर हो चुके हैं। हरिद्वार नगरीय पेयजल योजना के रखरखाव के लिए 2 करोड़ 20 लाख की डीपीआर बना रहे हैं। नमामि गंगा में दीनदयाल पार्क से चंडी पुल तक आस्था पथ का निर्माण। वेबकोस से 6 करोड़ रूपए की योजना है।  पी.एम.के.एस.वाई. के अंतर्गत डिस्ट्रीब्यूटरीज के लिए भारत सरकार को 531 लाख रूपए का प्रस्ताव भेजा है।हरिद्वार के सुनियोजित विकास के लिए मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा। लालजीवाला व पावनधाम में पार्किंग निर्माण का काम एडीबी के तहत किया जाएगा।आधुनिक शौचालय के लिए स्थल चिन्हित किए गए हैं। वर्ष 2021 से पहले हरिद्वार में यातायात नियंत्रण के लिए हाईटैक सीसीटीवी लगाए जाएंगे। जल्द ही आंकलन तैयार कर लिया जाएगा। 10 हाई मास्ट लाईट हो चुकी हैं जबकि 10 और के लिए स्थल चिन्हित किए जा रहे हैं। आरती दर्शन के लिए एलईडी स्क्रीन का टेंडर कर रहे हैं। खड़खड़ी शमशान घाट को एनएच 58 से जोड़ने के लिए 75 मीटर स्पान पुल का डीपीआर बनायी जा रही है। हरिद्वार में 10 प्रतिशत सीवरेज का प्रस्ताव भारत सरकार को प्रेषित किया जा चुका है।अमृत योजना के तहत जलभराव की समस्या को दूर किया जाएगा। इनके अतिरिक्त कई आंतरिक मार्ग व नालियां निर्माण व अन्य कार्य भी हैं।
रानीपुर विधानसभा क्षेत्र के तहत 40 हैंडपम्प की स्थापना की जा रही हैं। कार्य प्रगति पर है। बहादराबाद में डिस्ट्रीब्यूटरीज में लाईनिंग के निर्माण का प्रस्ताव भारत सरकार को प्रेषित। शिवालिक नगरीय पेयजल योजना का नवीनीकरण 9 करोड़ 65 लाख रूपए की डीपीआर। वाल्मिकी बस्ती में नाला व टाईल्स निर्माण के लिए 485 लाख स्वीकृत। टिहरी विस्थापित भेल, शिव मंदिर सुभाषनगर सड़क चौड़ीकरण। मार्च 2019 तक पूरा कर लिया जाएगा। शिव मंदिर से बरसाती नाले तक नाली निर्माण। दर्शन लाल में सड़क-नाली पुनर्निर्माण के लिए 1 करोड़ 17 लाख रूपए स्वीकृत। बहादराबाद में खेल मैदान का निर्माण किया जाएगा। बहादराबाद में पेयजल के लिए नलकूप व नई पाईप लाईन की डीपीआर बना रहे हैं। ज्वालापुर-धीरवाली में कन्या इंटर कॉलेज में भवन निर्माण किया जाएगा। टीरा में नई पेयजल लाईन निर्माण की डीपीआर बना रहे हैं। रोशनाबाद से हरिद्वार मार्ग का निर्माण के लिए डीपीआर तैयार कर रहे हैं। औरंगाबाद में नदी कटाव रोकने के लिए बंधों का निर्माण किया जाएगा। डीपीआर तैयार। शिवालिक नगर टिहरी विस्थापित क्षेत्र में पुल निर्माण।
भगवानपुर विधानसभा क्षेत्र में 20 हैंडपम्प की डीपीआर बन गई है। हसनपुर में सोलानी नदी में बाढ़ सुरक्षा कार्य नाबार्ड से किया जाएगा। बहेड़ी के सहादाबाद में पशु सेवा कें्रद खोला जाएगा। सरखेड़ी, इकबालपुर व मोहितपुर में राजकीय इंटर कॉलेज में कक्षा-कक्ष के निर्माण का आंकलन तैयार कर लिया गया है। भगवानपुर में बस अड्डा का एस्टीमेट तैयार कर लिया गया है। विकास खण्ड कार्यालय राज्य योजना के तहत बनाए जाने पर सहमति बनी। भगवानपुर को नगर पालिका परिषद बनाया जाएगा।
 ज्वालापुर विधानसभा क्षेत्र के तहत खेड़ी-सिकरोढ़ा मार्ग पर छतिग्रस्त पुलिया का निर्माण की डीपीआर तैयार है। घाड़ क्षेत्र में 50 हैण्डपम्पों के निर्माण की डीपीआर बन चुकी है। रतमऊ नदी के बांए किनारे पर तटबंध निर्माण का कार्य किया जायेगा। राजकीय इन्टर कौलेज मानूबांस  में दो कक्ष कक्ष एवं प्रयोगशाला का निर्माण के लिए डीपीआर तैयार है। बुग्गावाला कन्या इंटर कॉलेजमें कक्षा कक्ष एवं प्रयोगशाला का निर्माण का एक सप्ताह में एस्टीमेट बनाने के निर्देश दिए गए। ज्वालापुर में आधुनिक शौचालय का निर्माण किया जायेगा।डालूवाला-लारलवाला-धनोरी मार्ग पर पुल निर्माण की डीपीआर तैयार है। खेड़ी-सिकोहपुर-डांडा हसनगढ़ में सी.सी. मार्ग सितम्बर तक पूर्ण किया जायेगा। ज्वालापुर से वधवा शहीद तक सड़क किनारे नाले का निर्माण किया जायेगा। बुग्गावाला से दोड़बसी तक सड़क मार्ग निर्माण का कार्य लगभग पूर्ण।
झबरेड़ा विधानसभा क्षेत्र में  बस अड्डे के लिए 10 दिन में भूमि का चयन कर लिया जायेगा। 25 हैण्डपम्पों के निर्माण की डीपीआर बन गई है। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज लखनौता में दो कक्षा कक्षों के निर्माण का वित्त को प्रस्ताव भेजा है। झबरेड़ा नगर पंचायत में लाईट लगाई जायेगी।
पीरान कलियर विधानसभा क्षेत्र में 10 हैण्डपम्प लगाये जायेंगे इसकी 15 दिन में स्वीकृति मिल जायेगी। जबकि नलकूप निर्माण स्वीकृत हो चुका है। पीरान कलियर के सुनियोजित विकास के लिए मास्टर प्लान का कार्य प्रगति पर है। पीरान कलियर में पर्यटन सूचना केन्द्र बनाया जायेगा। एक सप्ताह में डीपीआर बना ली जायेगी। बस अड्डा के लिए शीघ्र ही भूमि का चयन कर लिया जायेगा।
रूड़की विधानसभा क्षेत्र में 85 मीटर स्पान के पुल की डीपीआर अगस्त तक तैयार हो जायेगी। मल्टीपल पार्किंग की डीपीआर तैयार हो चुकी है। रूड़की के सुनियोजित विकास के लिए मास्टर प्लान। कार्य प्रगति पर है।
लक्सर में 50 हैंडपम्प लगने हैं इनमें से 25 स्वीकृत किए जा चुके हैं। क्षतिग्रस्त पेयजल लाईन् का नवीनीकरण की डीपीआर बन गई है। गंगा नदी में वायरक्रेट का निर्माण स्वीकृत किया जा चुका है। रामपुर रायहट्टी गांव में बाढ़ सुरक्षा, नाबार्ड के तहत जल वितरण प्रणाली, जीआई सी निरंजनपुर में चारदीवारी व प्रयोगशाला का निर्माण किया जाना है।  पार्किंग के लिए भूमि का चयन किया जा रहा है। इसी प्रकार अनेक मार्गों की डीपीआर स्वीकृत की जा चुकी है।
खानपुर विधानसभा क्षेत्र में ग्राम करनपुर में जलभराव से निजात के लिए प्लान तैयार किया जा रहा है। नाबार्ड के तहत नलकूप व जल वितरण प्रणाली के लिए डीपीआर बन रही है। जीजीआईसी लंढौरा में दो कक्ष बनाए जा रहे हैं। 4 सिंचाई नलकूप की डीपीआर बनाई जा रही है। 20 हैंडपम्प का काम चरणबद्ध तरीके से किया जा रहा है। शैलाबाग, कलसिया व ग्राम खानपुर में पेयजल टंकी बनाई जा रही है।  लक्सर-लंढौरा रूड़की मार्ग का चौड़ीकरण का सर्वे किया जा रहा है। यहां के दो दर्जन से अधिक मार्ग अक्टूबर तक पूरे कर लिए जाएंगे।