Tuesday, October 17, 2017
Breaking News
Home / STATE NEWS / Uttarakhand / Dehradun / देहरादून: पांच किलो अफीम के साथ होटल मालिक हुआ गिरफ्तार !

देहरादून: पांच किलो अफीम के साथ होटल मालिक हुआ गिरफ्तार !

देहरादून-  यमुनोत्री के एक होटल मालिक को प्रेमनगर पुलिस ने अफीम की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास पांच किलो अफीम मिली, जो वह हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले से दून के होटल-क्लब में सप्लाई के लिए लाया था। SSP निवेदिता कुकरेती ने बताया कि दून के कुछ होटल और क्लब में काफी दिन से अफीम सप्लाई की सूचना मिल रही थी। हाल ही में मुखबिर से सूचना मिली कि प्रेमनगर के जनरल विंग में रहने वाला एक शख्स भी इसमें शामिल है। इसके बाद एसओ प्रेमनगर नरेश राठौर के नेतृत्व में टीम गठित कर नजर रखी जाने लगी। इस टीम ने सरबजीत उर्फ सोनू पुत्र सुरेंद्र पाल निवासी प्रेमनगर जनरल विंग मूल निवासी चंदननगर, दिल्ली को गिरफ्तार किया गया। उसके घर से पांच किलोग्राम अफीम बरामद हुई। सरबजीत जिन होटल व क्लब में अफीम की सप्लाई करता था, उन पर भी नजर रखी जा रही है। उसके नेटवर्क में शामिल अन्य लोगों के बारे में भी जांच-पड़ताल की जा रही है।

 

दिल्ली में पढ़ाई के दौरान सरबजीत जौनसार क्षेत्र की एक लड़की के संपर्क में आया। 2008 में उससे शादी कर ली। इसके बाद उसका इस क्षेत्र में आना-जाना बढ़ गया और कई बड़े लोगों से संपर्क भी बन गए। मगर 2013 में पत्नी से तलाक हो गया और वापस दिल्ली चला गया। छह माह पहले वह फिर विकासनगर आया और तस्करी में जुट गया। चंद माह में ही उसने चमोली, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग समेत कई पर्यटक स्थलों पर होटल व क्लबों में अफीम तस्करी का कारोबार खड़ा कर लिया था। किसी को शक न हो, इसलिए उसने तीन माह पहले यमुनोत्री में होली पैलेस नामक होटल लीज पर लिया।

 

उत्तराखंड में अफीम की खेती प्रतिबंधित है। बावजूद इसके पहाड़ के दुर्गम इलाकों में धड़ल्ले से अफीम की खेती और तस्करी की जा रही है। बीती मई में ही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने उत्तरकाशी जिले के भटवाड़ी, बड़कोट, चिन्यालीसौंड़ व डूंडा में 70 एकड़ अफीम की खेती नष्ट की थी। हिमाचल से अफीम की तस्करी का पता चलने के बाद एनसीबी सरबजीत से पूछताछ कर तस्करी में लिप्त लोगों पर शिकंजा कसने की तैयारी में जुट गई है। एनसीबी के इंटेलीजेंस ऑफीसर टीएस रौतेला ने बताया कि अफीम की तस्करी में सक्रिय नेटवर्क के बारे में इनपुट जुटाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *