Sunday, August 19, 2018
Breaking News
Home / Prime News / उत्तराखंड में खाली पड़े ATM से लोग परेशान, बैंकों की हड़ताल से 3000 करोड़ का कारोबार प्रभावित

उत्तराखंड में खाली पड़े ATM से लोग परेशान, बैंकों की हड़ताल से 3000 करोड़ का कारोबार प्रभावित

वेतन में दो प्रतिशत वृद्धि के प्रस्ताव से खफा बैंककर्मियों की दो दिवसीय हड़ताल के दूसरे दिन भी आज प्रदेश भर में सभी सरकारी-गैरसरकारी बैंक बंद रहे। हड़ताल से क्लीयरिंग हाउस न लग पाने से प्रदेश में करीब तीन हजार करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ है। इसके साथ ही नकदी का लेन-देन, आरटीजीएस, नेफ्ट आदि कार्य भी ठप रहे। बैंक बंद होने से लोगों को नकदी के लिए एटीएम का सहारा रहा। लेकिन, दोपहर बाद एटीएम में भी कैश की किल्लत हो गई। ग्रामीण अंचलों में अधिकांश एटीएम खाली रहे।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के बैनर तले बैंक अधिकारी-कर्मचारी परेड ग्राउंड में एकत्रित हुए। आईबीए व वित्त मंत्रालय के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए रैली निकाली। रैली परेड ग्राउंड से कनक चौक, गांधी पार्क चौक, घंटाघर होते हुए गांधी पार्क पहुंचकर संपन्न हुई। इस दौरान सभा को संबोधित करते हुए यूनियन के प्रदेश संयोजक जगमोहन मेंदीरत्ता ने कहा कि 2012 से लागू वेतन समझौते में बैंक कर्मियों को 15 प्रतिशत की वेतन वृद्धि मिली थी। दूसरी ओर, सरकार अब तक हुए वेतन समझौते के विपरीत स्केल 4 से 7 तक के अधिकारियों के वेतनमान अपनी मर्जी से तय करने पर अड़ी है।

पिछले दस वर्षों में बैंकों ने लाभ कमा कर दिया है। इसके बावजूद कर्मचारियों के वेतन मद में कटौती की जा रही है। बैंक शाखाओं में बढ़ोतरी होने से कर्मचारियों पर कार्य का बोझ बढ़ा है। सरकार ने यदि मांगें नहीं मानीं तो बैंक कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकते हैं। जुलूस प्रदर्शन में पीआर कुकरेती, एसपी जुयाल, वीके जोशी, आरपी शर्मा, हरिओम रेखी, राजन पुंडीर, समदर्शी बड़थ्वाल, बीपी सुंदरियाल, आरके गैरोला, कमल तोमर, सीके जोशी, शार्दुल ढौंडियाल, मुरारी लाल नौटियाल, विनय शर्मा, वीके बहुगुणा, अनिल जैन, एसएस रजवार, एलएम बडोनी, टीपी शर्मा समेत कई बैंक कर्मियों और अधिकारियों ने शिरकत की।