Monday, April 23, 2018
Breaking News
Home / BUSINESS / उत्तराखंड के युवाओं के लिए खुशखबरी इस वर्ष 6.14 लाख को मिलेंगे रोजगार

उत्तराखंड के युवाओं के लिए खुशखबरी इस वर्ष 6.14 लाख को मिलेंगे रोजगार

प्रदेश के युवाओं के लिए खुशखबरी। राज्य सरकार नए वित्तीय वर्ष में रोजगार के अवसरों पर खास फोकस करेगी। इस वर्ष 6.14 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मुहैया कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसमें सहकारिता और उद्यान के क्षेत्र में सर्वाधिक 3.70 लाख लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने शनिवार को सोशल साइट फेसबुक के जरिए राज्यवासियों से सीधे संवाद के दौरान युवाओं की ओर से रखे गए सवालों के जवाब में यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरियों में नियुक्ति प्रक्रिया पारदर्शी हो, यह प्रयास किया गया। विभिन्न विभागों में लगभग 6500 रिक्तियां जारी कर दी गई हैं। वर्ष 2017-18 में 2500 पदों पर नियुक्तियां की गई। उन्होंने कहा कि यदि किसी युवक-युवती में प्रतिभा है तो उसे सरकारी नौकरी प्राप्त करने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने वर्ष 2018-19 में रोजगार के लिए निर्धारित लक्ष्य का क्षेत्रवार ब्योरा भी दिया।

इस साल रोजगार का लक्ष्य

क्षेत्र, संख्या

सहकारिता, 210000

उद्यान, 160000

स्वयं सहायता समूह, 84000

जलागम, 79638

डेयरी, 50000

उद्योग स्थापना, 22000

गाम्य विकास, 8000

दीनदयाल उपाध्याय कौशल विकास, 5000

800 ग्राम संगठन, 4000

कृषि, 1930

मत्स्य पालन, 750

मंत्री-विधायकों के बढ़े वेतन पर चुप्पी

संवाद के दौरान कई लोगों ने मंत्री विधायकों के वेतन-भत्तों को बढ़ाए जाने पर भी सवाल किए। आदित्य थपलियाल का सवाल था-‘मान्यवर विधायकों की पेंशन भत्ते आपने बढ़ा दिए। पैसा कहां से आएगा। कर्मचारियों को तनख्वाह तो कर्ज लेकर दे रहे हैं। आप बेरोजगारों के लिए क्या कर रहे हैं।’ पंत विजय ने भी सवाल दागा कि-‘120 फीसद आप लोगों की तनख्वाह बढ़ गई है। हमारी 20 फीसद ही बढ़ा दो, खुशियां आ जाएंगी हमारे घर-परिवार में।’ ऐसे सवालों के जवाब में काबीना मंत्री पंत ने कहा कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के आधार पर सभी राज्यकर्मियों को सुविधा दी जा रही है। वेतन के लिए कर्ज नहीं लिया जा रहा। हालांकि, विधायकों के वेतन-भत्तों के सवाल पर उन्होंने चुप्पी साधे रखना बेहतर समझा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *