Sunday, October 21, 2018
Breaking News
Home / Prime News / अखिलेश सरकार यूपी की जनता को दे रही है, चुनावी लॉलीपॉप

अखिलेश सरकार यूपी की जनता को दे रही है, चुनावी लॉलीपॉप

राष्ट्रीय लोकदल ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लगातार किए जा रहे योजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास को चुनावी लॉलीपॉप बताया. आरएलडी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने प्रदेश सरकार द्वारा चुनाव के समय हजारों योजनाओं के शिलान्यास पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “यह तोहफा उत्तर प्रदेश की जनता के लिए लॉलीपॉप की तरह है. जनता के समक्ष लुभावनी योजनाएं प्रस्तुत करके प्रदेश के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने का यह प्रयास सफल होने वाला नहीं है, डॉ. अहमद ने बताया कि जिस सरकार ने अपने संपूर्ण कार्यकाल में केवल पूंजीपतियों और औद्यौगिक घरानों का हित साधने का काम किया हो वह अब चला चली की बेला में किसानों का हितैषी बनने का असफल प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि यूपी सरकार ने पूर्वाचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास किया, जिसके लिए अभी तक संपूर्ण जमीन का भी अधिग्रहण नहीं हुआ है.

 

 उन्होंने कहा कि मंडी परिषद की 2022 योजनाओं का शिलान्यास भी प्रदेश के किसानों को धोखा देने की क्रमबद्ध योजना ही है. डॉ. अहमद ने कहा कि वास्तव में किसान की खुशहाली उसकी फसल का वास्तविक मूल्य मिलना है और इस कथित समाजवादी सरकार ने चार साल बाद गन्ने का मूल्य केवल 25 रुपये क्विंटल बढ़ाया जबकि चार सालों में लागत दोगुनी हो गई है. आरएलडी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की जनता केंद्र और प्रदेश दोनों सरकारों का नाटक और लुभावने वादे समझ चुकी है और आगामी विधानसभा चुनाव में इसका प्रतिफल भी देगी.

 

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि साढ़े चार साल सोये रहने के बाद अखिलेश सरकार प्रत्येक दिन दौड़ते-हांफते 100-150 शिलान्यास कर रही है. सरकार की कार्यशैली पर टिप्पणी करते हुए मौर्य ने कहा कि साढ़े चार साल के अपने कार्यकाल में अखिलेश सरकार सोई रही और अब जब सरकार का कार्यकाल समाप्त होने को है तो प्रत्येक दिन 100-150 शिलान्यास कर रही है. मौर्य ने कहा, “यदि अखिलेश सरकार ने जनता के हित में कार्य किए होते तो आज न तो उसे आधे-अधूरे कार्यो के लोकार्पण की और न ही राज्य सरकार को म्युनिसिपैलिटी स्तर के कार्यो के शिलान्यास की आवश्यकता न पड़ती.” उन्होंने कहा कि पूरे-पूरे दिन मुख्यमंत्री का शिलान्यास मुहिम यह दर्शाता है कि अखिलेश सरकार के सभी कार्य केवल चुनावी फायदे के लिए हैं जनहित के लिए नहीं. उन्होंने कहा कि जल्दी ही प्रदेश की जागररूक जनता एसपी सरकार का पाई-पाई का हिसाब चुकाएगी तथा समाजवादी पार्टी को सदन से बाहर करेगी.