Tuesday, August 21, 2018
Breaking News
Home / EDUCATION & JOB / IAS अफसर बने हेमंत सती अब पहाड़ के युवाओं के लिए शुरू करेंगे निशुल्क कोर्स

IAS अफसर बने हेमंत सती अब पहाड़ के युवाओं के लिए शुरू करेंगे निशुल्क कोर्स

इंडियन न्यूज़ नेटवर्क  डीबीएस कॉलेज देहरादून में प्लेसमेंट सेल की ओर से आयोजित मोटिवेशन एवं गाइडेंस कार्यक्रम में शुक्रवार को डीबीएस के पूर्व छात्र और आईएएस बने हेमंत सती ने छात्रों का मार्गदर्शन किया। उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा को लेकर छात्रों को टिप्स भी दिए।

मूलरूप से चमोली जिले कोठली निवासी हेमंत सती ने अपने अनुभव छात्रों के साथ साझा करते हुए सिविल सेवा की परीक्षा संबंधी विशेष जानकारियां दीं। हेमंत ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि सर्वप्रथम हमें अपनी सोच को बड़ा करना होगा, ताकि हम जीवन में बड़े लक्ष्यों को प्राप्त कर सकें। हेमंत ने कहा कि हिंदी-अंग्रेजी की भ्रांति को खत्म कर केवल तैयारी करने से सफलता मिलेगी। कई बार सफलता प्राप्त करने में समय लग सकता है लेकिन ऐसे में हिम्मत से काम लेकर पढ़ाई में ध्यान लगाना होता है वरना नकारात्मक विचार हमें और कमजोर बना सकते हैं।

हेमंत ने बताया उनको भी परीक्षा पास करने में पांच साल का समय लगा लेकिन लगातार प्रयास और दृढ़ निश्चय से उन्होंने सफलता हासिल की। धैर्य को सफलता को कुंजी बताते हुए उन्होंने ‘धैय के आगे शौर्य पराजित हो जाता है का संदेश दिया’।  हेमंत ने बताया आज समाज में सुविधाएं बहुत हैं। जो छात्र कोचिंग संस्थानों की फीस नहीं दे सकते वे घर पर ही ऑनलाइन वीडियो देखकर भी काम कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि वह बहुत जल्द पहाड़ के छात्रों के लिए मुफ्त में ऑनलाइन कोर्स शुरू करने जा रहे हैं।

प्लेसमेंट सेल के मुख्य प्रभाँरी डॉ. एके बियानी ने बताया कि प्लेसमेंट सेल कॉलेज के छात्रों को गाइडेंस देने के लिए समय-समय पर विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों को कॉलेज परिसर में बुलाता है। इसी क्रम में कॉलेज के पूर्व छात्र आईएएस हेमंत सती को छात्रों से रूबरू करवाया गया। छात्रों को गाइड करने के लिए आगे भी ऐसे शिविर लागाते रहेंगे। इस मौके पर डॉ. राज लक्ष्मी, डॉ. चेतना बिष्ट, डॉ. पारिताषित, डॉ.शीतल कनौजिया, डा. जौली भट्टाचार्य, छात्र संघ अध्यक्ष योगेश घाघट, महासचिव मानसी राणा, सुनील सेमवाल, अंकित बिष्ट, आशुतोष नौटियाल समेत अन्य छात्र मौजूद रहे।

लक्ष्य पर फोकस रखें छात्र 

बीएससी की छात्रा दीक्षा के टाइम मैनेजमेंट से संबंधित सवाल के जवाब में हेमंत ने कहा कि सर्वप्रथम अपने विषयों को कठिन से सरल की सूची में बांट लें। हर एक विषय को कम से कम दिन में तीन घंटे का समय दें और एक के बाद एक विषय ना पढ़ कर सुबह, दिन और रात को अलग-अलग समय पढ़ें। सचिन तिवारी के सवाल कि विषयों का चयन कैसे करें, पर हेमंत ने बताया हर व्यक्ति का रुचि क्षेत्र अलग होता है। अपनी रुचि के विषय को चुनना ही सबसे बेहतर होता है। अलका के सवाल के जबाव में हेमंत ने कहा समाज का माहौल ऐसा हो गया है कि नकारात्मकता हर ओर फैली है, लेकिन ऐसे में तैयारी कर रहे युवाओं को अपना ध्यान केवल अपने लक्ष्य पर रखना होगा और सकारात्मक लोगों के संपर्क में रहना होगा।