Sunday, July 22, 2018
Breaking News
Home / STATE NEWS / Uttarakhand / Dehradun / देहरादून में तूफान की दस्तक, सीएम ने केंद्रीय गृहमंत्री से की बात

देहरादून में तूफान की दस्तक, सीएम ने केंद्रीय गृहमंत्री से की बात

मौसम विभाग की तूफान को लेकर जारी चेतावनी सही साबित होती नजर आ रही। देर रात देहरादून में आंधी-तूफान और बिजली कड़कने के साथ तेज बारिश हुई। इसको देखते हुए पूरे शहर की बिजली काट दी गई। तेज हवाओं से कई जगह पेड़ और होर्डिंग्स गिरे हैं।

मुख्यमंत्री आवास रोड पर पेड़ गिरने से यातायात बाधित हो गया। शहर में जगह-जगह एसडीआरएफ की टीमें राहत कार्य में जुटी हुई हैं। देहरादून के गोविंदगढ़ इलाके में भी आंधी से नुकसान पहुंचा है। बिजली की लाइनें टूट गयी हैं। इससे पहले मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए सरकार ने सभी डीएम को आपदा प्रबंध तंत्र को हाईअलर्ट पर रखने को कहा। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की चेतावनी में कहा गया है कि सभी जिलों में आपदा प्रबंधन तंत्र को किसी भी घटना से निपटने के लिए हाईअलर्ट पर रखा जाए।

सीएम ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने की बात

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से दूरभाष पर वार्ता की। उन्होंने राज्य में बारिश एवं आंधी की चेतावनी के मद्देनजर जानकारी ली। राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार किसी भी आकस्मिक परिस्थिति में हर प्रकार की सहायता उपलब्ध कराने के लिए तैयार है। एनडीआरएफ की टीमों को हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने केंद्रीय मंत्री को धन्यवाद करते हुए अवगत कराया कि राज्य सरकार ने भी मौसम विभाग की चेतावनी को ध्यान में रखते हुए सभी आवश्यक कदम उठाए हैं। आपदा प्रबंधन विभाग और सभी जिला अधिकारी लगातार सुरक्षात्मक उपायों की समीक्षा कर रहे हैं। प्रदेश में एसडीआरएफ की सभी टीमें फुल अलर्ट पर हैं। मुख्यमंत्री स्वयं स्थिति पर नज़र रखे हुए हैं।

चमोली में तूफान से दो यात्री घायल 

सोमवार को आंधी से गोपेश्वर, चमोली और पीपलकोटी क्षेत्र में खासा नुकसान हुआ है। क्षेत्रपाल में पेड़ टूटने से हाईटेंशन लाइन का तार टूट गया। यहां पेड़ के नीचे खाना बना रहीं गुजरात की दो महिला तीर्थयात्री घायल हो गईं। पीपलकोटी के पास पेड़ गिर जाने से बदरीनाथ हाइवे बंद एक घंटेे तक बंद रहा। पेड़ हटाने के बाद यातायात सुचारु किया गया। गोपेश्वर में एक एटीएम वाले कमरे और फास्टफूड सेंटर की छत उखड़ गई। देवाल क्षेत्र में भी तेज बारिश और हवाओं से कई पेड़ उखड़ गए।

सात जिलों में स्कूलों में छुट्टी 

तूफान की चेतावनी को देखते हुए देहरादून, उत्तरकाशी, हरिद्वार, चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी, बागेश्वर और अल्मोड़ा के डीएम ने 8 मई को 12वीं तक के स्कूल बंद करने के आदेश दिए हैं। मौसम विभाग ने ओलावृष्टि और आंधी की चेतावनी जारी कर कहा है कि इस दौरान 70 से 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। पाकिस्तान से आने वाली तेज हवायें आंधी का कारण बन सकती हैं।

जोशीमठ में लाउडस्पीकर से लोगों को चेताया 

मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए जोशीमठ में एसडीएम योगेन्द्र सिंह के निर्देश पर यात्रियों को लाउडसपीकरों के माध्यम से आवश्यक निर्देश देने शुरू कर दिए गए हैं। एसडीएम ने बताया कि जोशीमठ, बदरीनाथ और गोविन्दघाट में कन्ट्रोल रूम, बदरीनाथ और पांडुकेश्वर में तैनात एसडीआरएफ को तत्पर रहने को कहा गया है।