Tuesday, January 16, 2018
Breaking News
Home / STATE NEWS / Uttarakhand / पेट में थे कीड़े, 14 साल के लड़के का पी गए 22 लीटर खून!

पेट में थे कीड़े, 14 साल के लड़के का पी गए 22 लीटर खून!

उत्तराखंड-  14 साल का बच्चा अजीब बीमारी से जूझ रहा था. खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा लगातार कम हो रही थी. खून चढ़ाने के बाद भी वजह पकड़ में नहीं आई. टेस्ट किए गए लेकिन सबकुछ नॉर्मल निकला. 2 साल में बच्चे का करीब 50 यूनिट (22 लीटर) खून कहां गया कुछ समझ नहीं आया. आखिरकार, दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में डॉक्टरों ने कैप्सूल एंडोस्कोपी का इस्तेमाल करने का फैसला किया. जो चीज सामने आई, उसने सबको हिला कर रख दिया.

उत्तराखंड के हल्द्वानी के 14 साल के एक किशोर के पेट में मौजूद हुकवॉर्म (एक तरह का कीड़ा) ने 2 साल में 22 लीटर यानी 50 यूनिट खून चूस लिया था. हालांकि, शुरुआत में डॉक्टर बच्चा को एनीमिया का शिकार मान रहे थे.

हुकवॉर्म के खून चूसने के कारण किशोर के शरीर में खून की कमी को देखते हुए उसे बार-बार खून चढ़ाया जा रहा था. 14 साल के बच्चे में औसतन 4 लीटर खून होता है. बच्चा 2 साल से इस समस्या से परेशान था और उसके शौच से खून आता था, जिसके कारण उसके शरीर में आयरन में कमी आ गई और भी कई तरह की बीमारियों ने घेर लिया. लंबे समय तक जांच के बाद उसे 6 महीने पहले दिल्ली के गंगाराम अस्पताल लाया गया जहां पता चला कि वह बच्चा पेट में मौजूद कीड़ों की वजह से परेशान है. गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने कैप्सूल एंडोस्कोपी के जरिए इस घातक बीमारी का पता लगाया. फिर इसका इलाज किया.

कैप्सूल एंडोस्कोपी एक तरह से डॉक्टरों का वायरलेस कैमरा है. इसमें एक कैप्सूल में एक वायरलेस कैमरा लगाकर पेट में छोड़ा जाता है. ये कैमरा पेट के अंदर की तस्वीरें लेता रहता है. इस कैमरे की बैट्री 12 घंटे चलती है और हर सेकेंड 12 फोटो बाहर भेजता है. बैट्री खत्म होने तक ये तकरीबन 70 से 75 हजार तस्वीरें खींच लेता है. इसे स्क्रीन पर लाइव भी देखा जा सकता है. कैप्सूल एंडोस्कोपी में पहले हाफ में आंत सामान्य दिख रहा था, जबकि दूसरे हाफ में वहां खून दिखने लगा. इसके बाद गंभीर परीक्षण करने पर पता चला कि पेट में हुकवॉर्म है और वही खून पी रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *