Sunday, July 22, 2018
Breaking News
Home / STATE NEWS / Madhya Pradesh / 2500 बहनों का भाई है यह इंस्पेक्टर, कही भी हो राखी बांधने पहुंच जाती हैं बहनें !

2500 बहनों का भाई है यह इंस्पेक्टर, कही भी हो राखी बांधने पहुंच जाती हैं बहनें !

मध्य प्रदेश में एक ऐसा पुलिस अधिकारी है जिसे उसके क्षेत्र की करीब ढाई हजार लड़कियां और महिलाएं अपना भाई मानती है। इतना ही नहीं ट्रांसफर होने के बाद भी ये महिलाएं अपने इस भाई को राखी भेजती है। राखी पर  हम आपको बता रहा है एक ऐसे टीआई की कहानी जिसे थाने में राखी बांधकर महिलाएं कहती थी, टीआई मेरा भाई।इंदौर में लोकायुक्त इंस्पेक्टर रहें सतीश पटेल इन दिनों मंडला के खटिया थाने के टीआई है।खरगोन के रहने वाले सतीश पटेल ने 2015 में राखी के अवसर सिवनी के छपरा थाने में थे।

सतीश बताते है कि उस समय राखी के दिन तक मेरी बहन की राखी मुझे नहीं मिल पाई थी। सब लोगों के हाथ पर राखी बंधी हुई थी पर मेरी कलाई सूनी पड़ी थी, ये देखकर मुझे बेहद अजीब लग रहा था।

अचानक मेरे दिमाग में एक ख्याल आया और अपने एक वाट्स एप्प ग्रुप पर मैंने ये स्लोगन लिखा – पुलिस आपका मित्र है टीआई आपका भाई है, और इसके नीचे लिखा टीआई होने के नाते क्षेत्र की हर महिला की रक्षा करना मेरी जिम्मेदारी है। यदि क्षेत्र की कोई महिला या लड़की मुझे राखी बांधना चाहती है तो थाने में उनका भाई उनका स्वागत करेगा। लोगों के लिए ये एक बिलकुल अनोखी बात थी। मैसेज के बाद पहले थाने की दो सब इंस्पेक्टर ने डरते -डरते मुझसे पूछा कि सर क्या हम आपको राखी बांध सकते है, बदले में मैंने अपना हाथ बढ़ा दिया। शाम तक करीब 70 महिलाएं, जिनमें कुछ स्कूल और कॉलेज की छात्राएं भी थी राखी, नारियल और मिठाई लेकर थाने आई और उन्होंने मुझे राखी बांधी।

इसके बाद ये सिलसिला चल निकला राखी से जन्माष्टमी तक ना सिर्फ थाना क्षेत्र बल्कि दूर-दूर की महिलाओं और लड़कियों ने मुझे राखी बांधी। रोज शाम को मेरा हाथ राखियों से भर जाता था।