Sunday, June 24, 2018
Breaking News
Home / National / स्वास्थ्य और शिक्षा को GST से बाहर रखा, जानिए क्या होगा सस्ता और क्या महंगा

स्वास्थ्य और शिक्षा को GST से बाहर रखा, जानिए क्या होगा सस्ता और क्या महंगा

indian-news:देश में सबसे बड़ा टैक्स सुधार करार दिए जा रहे वस्तु एवं सेवा कर (GST) काउंसिल की बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल को GST से छूट देने का फैसला किया गया है। श्रीनगर में हुई काउंसिल की बैठक अब संपन्न हो गई है और अब 3 जून को अगली बैठक होगी।

ये चीजें होंगी महंगी, ये सस्ती
बता दें कि जीएसटी काउंसिल की इस बेहद अहम बैठक में 80 से 90 फीसदी वस्तुओं और सेवाओं पर टैक्स के रेट तय कर दिए गए हैं. बैठक के पहले दिन ही काउंसिल ने 1,211 वस्तुओं पर टैक्स रेट तय किए। इस सभी उत्पादों को 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत के टैक्स ढांचे में कहां रखा जाएगा. परिषद में कोयले पर टैक्स को 11.69% से घटाकर 5%, मिठाई पर 5%, बालों के लिए तेल, टूथपेस्ट और साबुन जैसे उत्पादों पर 18% टैक्स निर्धारित किया गया है। वहीं चीनी, चाय, कॉफी और खाने के तेल पर 5% टैक्स लगाने का फैसला किया गया है। पूरे देश के लिए एक समान टैक्स ढ़ांचे पर GST काउंसिल फैसला करने जा रही है। इस फैसले के बाद 1 जुलाई से पूरे देश में सेंट्रल एक्साइज और सर्विस टैक्स चुकाने वाले सभी कारोबारियों को इन नई दरों पर जीएसटी का भुगतान करना होगा।
 
क्या है GST? 
GST का मतलब वस्तु एवं सेवा कर है। इसको केंद्र और राज्‍यों के 17 से ज्‍यादा इनडायरेक्‍ट टैक्‍स के बदले में लागू किया जाएगा। ये ऐसा टैक्‍स है, जो देशभर में किसी भी गुड्स या सर्विसेज की मैन्‍युफैक्‍चरिंग, बिक्री और इस्‍तेमाल पर लागू होगा।