Thursday, October 18, 2018
Breaking News
Home / National / एनडी तिवारी की पत्नी ने बंगला खाली करने के लिए योगी से मांगा एक साल का समय

एनडी तिवारी की पत्नी ने बंगला खाली करने के लिए योगी से मांगा एक साल का समय

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी की पत्नी ने आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर तिवारी के खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए लखनऊ में उन्हें आवंटित सरकारी आवास खाली करने के लिए कम से कम एक वर्ष का समय मांगा है।

तिवारी की पत्नी उज्ज्वला तिवारी ने कहा कि वयोवृद्ध नेता का पिछले आठ माह से नयी दिल्ली के एक निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। योगी को लिखे अपने पत्र में उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसी मुश्किल और अनिश्चित परिस्थितियों में मेरे या मेरे पुत्र रोहित शेखर तिवारी के लिए लंबे समय तक दिल्ली से बाहर रहना संभव नहीं है।’’  उत्तर प्रदेश के चार बार और उत्तराखंड के पहले मुख्यमंत्री रह चुके तिवारी पिछले साल 20 सितंबर को हुए मस्तिष्काघात के बाद से दिल्ली के मैक्स अस्पताल में भर्ती हैं।

तिवारी की पत्नी ने भावनात्मक रूप से लिखा, ‘‘मैं और मेरा परिवार उच्चतम न्यायालय के आदेश का सम्मान करते हैं लेकिन आपको पता है कि तिवारी अपने जीवन के अंतिम चरण में हैं और यह नहीं कहा जा सकता कि कब क्या हो जायेगा।’’ उच्चतम न्यायालय ने हाल में उत्तर प्रदेश के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों से अपने सरकारी आवास खाली करने को कहा है। इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने गत 17 मई को पूर्व मुख्यमंत्रियों को उनके सरकारी बंगले खाली करने के लिए नोटिस भेजे।

​तिवारी के खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए उनकी पत्नी ने कहा है कि उन्हें लगातार निगरानी और देखभाल की जरूरत है। आजादी से पहले और बाद में राष्ट्र निर्माण में तिवारी के महत्वपूर्ण योगदान को देखते हुए उन्हें लखनऊ में 1ए मॉल एवेन्यू स्थित बंगले को खाली करने के लिए कम से कम एक साल का समय दिया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम यादव और अखिलेश यादव भी पहले से ही अपना सरकारी आवास खाली करने के लिए राज्य संपत्ति विभाग से दो वर्ष का समय मांग चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ बसपा प्रमुख मायावती ने अपने सरकारी बंगले को ‘कांशीराम यादगार विश्राम स्थल’ घोषित कर बड़ा राजनीतिक कार्ड भी खेल दिया है।