Wednesday, October 17, 2018
Breaking News
Home / National / देहरादून में खुला देश का 32वां CIPET भवन, मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री ने किया उद्धाटन

देहरादून में खुला देश का 32वां CIPET भवन, मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री ने किया उद्धाटन

त्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के साथ मंगलवार को देहरादून के डोईवाला सेंट्रल इंस्टीट्यूट आॅफ प्लास्टिक्स इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाॅजी (सिपेट) भवन और कौशल विकास तकनीकी सहयोग केंद्र (सीएसटीएस) का शिलान्यास किया।

833.25 एकड़ भूमि उत्तराखंड को मिली निशुल्क 
इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन उत्तराखंड के लिए ऐतिहासिक दिन है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय मंत्री आनंत कुमार ने राज्य में सौगातों की बारिश की है। सीएम ने कहा कि आज का दिन सपना साकार होने का दिन है। आईडीपीएल की 833.25 एकड़ भूमि उत्तराखंड को निशुल्क मिली है। उन्होंने कहा कि प्राप्त भूमि में से 200 एकड़ भूमि एम्स के विस्तार के लिए प्रयोग की जाएगी, जबकि बाकी भूमि पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का खूबसूरत और देवभूमि की गरिमा के अनुरूप कन्वेंशन सेंटर स्थापित किया जाएगा।

प्रशिक्षण लेने वालों को 100 प्रतिशत मिलेगी नौकरी 
उत्तराखंड में सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (CIPET) की स्थापना से राज्य के युवाओं को प्लास्टिक इंजीनियरिंग में दक्षता और इस इंडस्ट्री  में व्यापक रोजगार के अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि कौशल विकास और तकनीकी सहायता केंद्र में प्रशिक्षण लेने वालों को 100 प्रतिशत नौकरी मिलेगी। देश में वर्तमान में 8 लाख प्लास्टिक इंजीनियर्स की मांग है। इसी प्रकार पूरी दुनिया में भारी संख्या में इनकी मांग है। डोईवाला में प्रारम्भ किए गए सिपेट में पहले वर्ष 1500, दूसरे वर्ष 2500 और तीसरे वर्ष 3000 युवाओं को प्रशिक्षण मिलेगा।

100 अन्य जन औषधि केंद्र उत्तराखंड में खोले जाएंगेः केंद्रीय मंत्री 
वहीं केंद्रीय मंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि इसके 100 अन्य जन औषधि केंद्र उत्तराखंड में खोले जाएंगे। इसके साथ ही राज्य में एक और सिपेट स्थापित किया जाएगा। अननंत कुमानर ने कहा कि सिपेट का महत्व आईआईटी के समान है। यहां के बच्चों को 100 प्रतिशत कैम्पस प्लेसमेंट मिलेगा। आईडीपीएल की 899 एकड़ भूमि में से 833.25 एकड़ भूमि केंद्र द्वारा राज्य सरकार को वापिस कर दी गई है। द्वाराहाट मे भी एक सिपेट की स्थापना की जाएगी। इसी प्रकार सितारगंज में प्लास्टिक मेडिकल डिवाईसेज पार्क की स्थापना की जाएगी।