Saturday, August 18, 2018
Breaking News
Home / National / ‘मन की बात’ में PM मोदी बोले- 2-4 रुपये के लिए गरीबों से मोल-भाव ठीक नहीं

‘मन की बात’ में PM मोदी बोले- 2-4 रुपये के लिए गरीबों से मोल-भाव ठीक नहीं

मंथन न्यूज़ नेटवर्क :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने आज 35वीं बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित किया। पीएम हर महीने के आखिरी रविवार को 11 बजे इस कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित करते हैं।

स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च पोर्टल

खेल पर पीएम ने कहा कि खेल मंत्रालय ने खेल प्रतिभा की खोज के लिए स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च पोर्टल तैयार किया है। इस पर कोई भी बच्चा जिसने खेल के क्षेत्र में कुछ उपलब्धि हासिल की है, वो पोर्टल पर अपना बायोडाटा या वीडियो अपलोड कर सकता है। सलेक्ट इमर्जिंग प्लेयर्स को खेल मंत्रालय ट्रेनिंग देगा और मंत्रालय कल इस पोर्टल को लॉन्च करने वाला है। खुशी की खबर है कि भारत में 6 से 28 अक्टूबर तक फीका अंडर-17 वर्ल्ड कप का आयोजन होने जा रहा है।

वित्तीय समावेशन

प्रधानमंत्री जन-धन योजना वित्तीय समावेशन है। ये भारत में ही नहीं पूरे विश्व में आर्थिक जगत के पंडितों की चर्चा का विषय रहा है। जन-धन योजना से 30 करोड़ लोगों को जोड़ा. 28 अगस्त को जन-धन योजना के 3 साल पूरे. रुपे कार्ड से सम्मान और समानता का भाव जागा। जन-धन योजना में गरीबों के द्वारा करीब 65 हजार करोड़ रुपया बैंकों में जमा हुआ है. इस योजना के साथ जिसका खाता खुला, उसको बीमा का भी लाभ मिला है।

‘स्वच्छता ही सेवा’ मुहिम चलाएं

स्वच्छता का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि 2 लाख 30 हजार से भी ज्यादा गांव, खुले में शौच से अपने आपको मुक्त घोषित कर चुके हैं।शौचालयों की कवरेज 39% से करीब-करीब 67% पहंची है। मैं आह्वान करता हूं कि 2 अक्टूबर को गांधी जयंती से 15-20 दिन पहले से ही ‘स्वच्छता ही सेवा’ मुहिम चलाएं। ऐसा स्वच्छता खड़ी कर दें कि 2 अक्टूबर सचमुच में गांधी के सपनों वाली 2 अक्टूबर हो जाए। पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में कहा कि जब हमारे घर के आस-पास कोई सामान बेचने के लिए आता है तो हम उससे मोल भाव करते हैं पर बड़े-बड़े रेस्त्रां में बिल धड़ाम से दे देते हैं। हम गरीब से मोल-भाव करते हैं, जो कि उसे पीड़ा पहुंचाती होगी. प्रधानमंत्री मोदी को पुणे की अपर्णा ने मैसेज भेजकर ये बात उठाने को कहा।
भास्कर की ‘मिट्टी के गणेश’ पहल का किया जिक्र
पीएम मोदी ने कहा कि बच्चे घरों में मिट्टी के गणेश बना रहे हैं। इस बार प्रकृति के बचाव के लिए मीडिया हाउस भी बदलाव की पहल कर रहे हैं। लोग घरों में गणेश मूर्ति बनाने लगे हैं। मुझे किसी ने बताया कि एक शख्स ने गणेश विसर्जन के लिए खास कुंड बनाया है।

बाढ़ की गंदगी हटाने में कई लोग सामने आए

मोदी ने कहा कि पिछले दिनों गुजरात में बाढ़ आई। इसमें गंदगी फैल गई, कई संगठनों ने इसमें हाथ बंटाया और सफाई की। मैं चाहता हूं कि 2 अक्टूबर को गांधी जयंती पर एक साथ मिलकर सफाई का व्यापक आंदोलन चलाएं।  सभी स्कूल, ऑफिस, पंचायतें और एनजीओ मिलकर गांधी के सपनों की स्वच्छता के लिए काम करें। मेरे सोशल मीडिया के दोस्त भी वर्चुअल मीडिया में अभियान चला सकते हैं और धरातल पर काम हो इसके लिए लोगों को प्रेरित कर सकते हैं। स्वच्छता के लिए प्रतियोगिताएं कराई जाएं और विजेताओं को अवॉर्ड दिए जाएं। 15 सितंबर से स्वच्छता ही सेवा का मंत्र लेकर अभियान में मेहनत करें। इस तरह बापू को श्रद्धांजलि देने के लिए हमारे अंदर आनंद प्राप्त होगा। चारों ओर गणेश चतुर्थी की धूम मची है: मन की बात में पीएम मोदी तिलकजी ने 125 साल पहले गणेशोत्सव की शुरूआत की थी: मन की बात में पीएम मोदी ये पर्व 10 दिन तक चलता है: मन की बात में पीएम मोदी सभी देशवासियों को बहुत शुभकामनाएं: मन की बात में पीएम मोदी अभी केरल में ओणम का त्योहार हो रहा है: मन की बात में पीएम मोदी हमारे त्योहार लोगों के लिए टूरिज्म का आकर्षण बनते जा रहे हैं: मन की बात में पीएम मोदी जैसे बंगाल में दुर्गा पूजा देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं: मन की बात में पीएम मोदी इस बीच में देशवासियों को ईद की भी शुभकामनाएं देना चाहूंगा: मन की बात में पीएम मोदी त्योहारों का मतलब है कि हम अपने चारों ओर साफ-सफाई पर ध्यान दें: मन की बात में पीएम मोदी हमारा देश विविधताओं से भरा है, 365 दिन में से कोई दिन शायद ही बिना त्योहार के गुजरता हो: मन की बात में पीएम मोदी हमारे त्योहार प्रकृति के बदलाव से जुड़े हुए हैं: मन की बात में पीएम मोदी जैन समाज को त्योहार की बधाई देता हूं: मन की बात में पीएम मोदी हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि क्षमा वीरों का आभूषण है: मन की बात में पीएम मोदी शेक्सपीयर ने मर्चेंट ऑफ वेनिस में भी क्षमा का उल्लेख किया है: मन की बात में पीएम मोदी एक ओर देश उत्सवों में डूबा है, दूसरी ओर एक ओर हिंसा की खबरें आती हैं, ये देश बुद्ध का देश है। अहिंसा परमो धर्म: मन की बात में पीएम मोदी मैंने लालकिले से कहा था कि आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं होगी : मन की बात में पीएम मोदी आस्था के नाम पर कानून हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है: मन की बात में पीएम मोदी आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जा सकती: मन की बात में पीएम मोदी कार्यक्रम की शुरुआत में ही पीएम मोदी ने हरियाणा में हुई हिंसा पर चिंता जताई मेरे सभी देशवासियों को मेरा प्यार भरा नमस्कार: मन की बात में पीएम मोदी रविवार को प्रसारित होने वाले ‘मन की बात’ कार्यक्रम का यह 35वां संस्करण है।  उम्मीद की जा रही है कि प्रधानमंत्री मोदी हाल की ताजा घटनाओं जैसे गोरखपुर में बच्चों की मौत और बिहार में बाढ़ से हुई मौतों के अलावा हरियाणा में बाबा राम-रहीम फैसले के बाद हुई हिंसा पर अपने मन की बात रख सकते हैं।