Thursday, October 18, 2018
Breaking News
Home / Prime News / फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने हेतु करना होगा फिल्म नीति का प्रचार : प्रसून जोशी

फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने हेतु करना होगा फिल्म नीति का प्रचार : प्रसून जोशी

उत्तराखंड इन्वेस्टर सम्मिट के द्वितीय सत्र मे आयोजित फिल्म एवं शूटिंग सत्र की अध्यक्षता करते केन्द्रीय फिल्म एवं प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष व प्रसिद्ध गीतकार प्रसून जोशी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य मे फिल्म उद्योग को विकसित करने हेतु , राज्य मै बेहतर फिल्म नीति बनाने के साथ ही फिल्म निर्माताओं,सरकार,निजी निवेशकों व स्थानीय लोगो को मिलकर कार्य करना होगा, उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पूर्व समय से ही अनेक फिल्मो की शूटिंग हुई है,यहॉ की लोक संस्कृति,भाषा,लोक नृत्य ,लोक गीत,के साथ ही यहॉ का प्राकृतिक सोन्दर्य आपने आप मे एक अलग पहचान रखता है,विगत वर्षों से राज्य सरकार द्वारा फिल्म उद्योग को बढ़ावा दिए जाने हेतु एक विशेष पहल की जा रही है,इस क्षेत्र को और अधिक बढ़ावा दिये जाने हेतु राज्य सरकार को एक बेहतर फिल्म निर्माण नीति बनाने के साथ ही फिल्म निर्माताओं को फिल्म नीति की समस्त प्रकियाओं की जानकारी हेतु व्यापक रूप से प्रचार प्रसार करना होगा।अपने संबोधन में  जोशी ने कहा कि राज्य में बेहतर फिल्म नीति के निर्माण हेतु पूर्ण सहयोग दिया जाएगा।उन्होंने यहाँ के प्राकृतिक सौंदर्य की प्रशंसा बासुरी और ढोल की धुन तथा थाप से करते हुए कहा कि बासुरी की मधुर  धुन से शांत वातावरण प्रतीत होता है तथा ढोल की थाप से तेज गर्जना के स्वर सुनाई देते है उत्तराखंड राज्य भी बांसुरी की धुन जैसा शांत है।यहाँ की वादिया, मनमोहक दृश्य फिल्म निर्माताओं को अपने आप में आकर्षित करते है। उन्होंने कहा कि राज्य में फिल्म उद्योग के बढ़ावा से जंहा एक ओर पर्यटन विकास को बढ़ावा मिलेगा वही रोजगार के अवसर बढ़गे और पलायन भी रुकेगा।
सत्र में उपस्थित उत्तराखंड राज्य के मंत्री परिवहन, समाज कल्याण यशपाल आर्य ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा राज्य में फिल्म निर्माताओं को फिल्म शूटिंग हेतु एक बेहतर अनूकूल वातावरण दिए जाने हेतु फिल्म नीति तैयार कर बेहतर सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।उन्होंने  कहा कि उत्तराखंड के प्राकृतिक सौंदर्य को देखते हुए अनेक फिल्म निर्माता यहाँ फिलमों की शूटिंग हेतु आते है सरकार द्वारा अधिक से अधिक फिल्म निर्माताओं को यहॉ शूटिंग हेतु आमंत्रित करने के साथ कि उन्हे स्थानीय दक्ष तकनीकी मानव संसाधन उपलब्ध कराए जाने हेतु प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की जा रही हैं ताकि स्थानीय स्तर पर ही फिल्म निर्माताओं को दक्ष तकनीकी उपलब्ध कराई जा सके।परिवहन मंत्री ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में फिल्म निर्माण के क्षेत्र में विशेष रुचि लेते हुए इस  क्षेत्र के विकास में कार्य किया जा रहा है,जिसके तहत राज्य में जनपद नैनीताल के पटवादांग में फिल्म सिटी निर्माण हेतु भूमि का चयन किया जा चुका है।उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य देव भूमि है यहाँ ष्अतिथि देवो भवष् के साथ सभी अतिथियों का स्वागत किया जाता है।उन्होंने हिंदी फिल्म के गाना ष्ष् ये वादियों ये फिजाएँ बुला रही हैं तुम्हैष्ष् गाने की लाइन सुना कर सभी फिल्म निर्माताओं को यहाँ आने का आमंत्रण दिया।
फिल्म व शूटिंग सत्र मैं सभी आगन्तुकों का स्वागत करते हुए सचिव सूचना दिलीप जावलकर ने कहा कि राज्य में फिल्म निर्माताओं के अनुकूल फिल्म नीति बनाई जाएगी वर्तमान मे एकल खिड़की ब्यवस्था के तहत फिल्म निर्माताओं को एक सप्ताह के भीतर फिल्म निर्माण हेतु स्वीकृति के साथ ही अन्य सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।उन्होंने कहा कि इन्वेस्टर सम्मिट में फिल्म निर्माम व शूटिंग से सम्बंधित चर्चा के दौरान अनेक सुझाव जो प्राप्त हुए है निश्चित रूप से उनपर विचार कर अमल किया जाएगा जिससे कि राज्य में फिल्म शूटिंग हेतु एक बेहतर माहौल बन सके।इस अवसर पर फिल्म निर्माता संदीप सिंह बेदी तथा कुलमीत मककर तथा उपस्थित प्रतिभागियों द्वारा भी अपने विचार तथा सुझाव दिए गए।सत्र मै महानिदेशक सूचना दीपेंद्र कुमार चैधरी,अपर निदेशक अनिल चंदोला,उत्तराखंड विकास परिसद के नोडल अधिकारी के एस चैहान सहित प्रदेश तथा प्रदेश के बाहर से आए विभिन्न फिल्म निर्माता व फिल्म जगत से जुड़े ब्यक्ति मौजूद थे।