Sunday, September 23, 2018
Breaking News
Home / Prime News / ये है उत्तराखंड का अनोखा गांव, जहाँ हर शख्स एक ही दिन पैदा हुआ

ये है उत्तराखंड का अनोखा गांव, जहाँ हर शख्स एक ही दिन पैदा हुआ

गांवों के देश भारत में एक ऐसा भी गांव है, जहां रहने वाले सभी लोगों का जन्म एक ही दिन हुआ है।  ताजा मामला हरिद्वार से करीब 20 किलोमीटर दूर खाटा गांव का है, जहां गांव का हर शख्स आधार के हिसाब से एक ही दिन 1 जनवरी को पैदा हुआ है। आधार कार्ड के डेटा के हिसाब से, खाटा गांव के मोहम्मद खान की जन्मतिथि 1 जनवरी है। उनके पड़ोसी अलफदीन की जन्मतिथि भी 1 जनवरी है। इतनी ही नहीं, अलफदीन का पूरा परिवार आधार कार्ड पर यही जन्मतिथि लेकर घूम रहा है। बात यहीं खत्म नहीं होती, इस गांव के 800 परिवार के हर सदस्य का जन्म आधार के हिसाब से 1 जनवरी को हुआ है। सभी ग्रामीणों ने आधार बनवाते वक्त अपने पहचान पत्र और वोटर आईडी दिए थे, इसके बावजूद इतने बड़े स्तर पर लापरवाही सामने आई है। अलफदीन कहते हैं, ‘हमसे कहा गया था कि हमें यूनीक पहचान नंबर मिलेगा। इसमें यूनीक क्या है? सबकी जन्मतिथि तक तो एक छाप दी है।’

देश में आधार से जुड़ी गड़बड़ियों का यह ऐसा पहला मामला नहीं है। इससे पहले अगस्त में आगरा जिले के तीन गांवों और इलाहाबाद के एक गांव में भी सभी की जन्मतिथि 1 जनवरी छपकर आई थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि जन्मतिथि तो दूर, लोगों के जन्म का वर्ष भी वोटर या राशन कार्ड से अलग है। कई बुजुर्ग लोगों की आयु 22 साल छपी है तो वहीं बच्चों की आयु 15 से 60 साल तक छपकर आई है।